Sunday, September 16, 2012

Tuesday, September 11, 2012

परिचय




ज़िन्दगी बहुत अजीब सा परिचय देती है .. और वक़्त भी उसी की कलम की सियाही बन कर चल पड़ता है... ज़िन्दगी कभी  दिल के करीब होते है सांसों की खुशबू बन कर हम मैं समां जाती है, और कभी जब आंखें बंद कर के उसको महसूस  करना चाहो तो दूर नज़र आने लगती है किसी छलावा की तरह .. निराश कर के कभी बेरंग सी हो जाती है..और कभी समझने की कोशिश करो तो लगता है की मैं खुद उलझ रहें है..